Home » Diwali Essay in Hindi
Diwali Essay in Hindi

Diwali Essay in Hindi

by Sonal Shukla

प्रत्येक वर्ष भारतवर्ष एवं दुनिया के अन्य देशों में जहा की हिन्दू समुदाय के लोग रहते है वे दिवाली पर्व बड़े ही हर्सोल्लास के साथ मानते है. यह पर्व भगवान राम के 14 वर्ष के वनवास के बाद अयोध्या नगरी में वापस लौटने की ख़ुशी में मनाया जाता है. लोग इस दिन प्रभु श्री राम जी की अवध नगरी वापस आने की ख़ुशी अपने घरो में दिया जलाकर करते है. प्रस्तुत आर्टिकल में हम Diwali Essay in Hindi की जानकारी लेंगे जिसमे आप Essay on Diwali in Hindi for Class 6/ Class 4/ Class 3 एवं अन्य कक्षा में उपयोग कर सकते है.

Diwali Essay in Hindi

अमूमन स्कूल के विद्यार्थी लोगो को मैंने इन्टरनेट पर Essay on Diwali in Hindi in 250 words एवं Essay on Diwali in Hindi 100 words बड़े पैमाने पर सर्च करते हुए देखा है जिसको देखते हुए मैंने Essay on Diwali पर ये आर्टिकल लिखने का निर्णय लिया है. आप सभी विद्यार्थी गड इस पोस्ट में Diwali पर लिखे जाने वाले विभिन्न प्रकार के Essay पढ़ सकते है.

Diwali Essay in Hindi in 400 words

दिवाली अंधकार पर प्रकाश की सफलता का प्रतीक चिन्ह है. इसे प्रतिवर्ष कार्तिक अमावस्या के दिन मनाया जाता है. यह हिन्दुओ का सर्वप्रमुख त्यौहार है. इसे बुराई पर अच्छाई की जीत पर्व के नाम से भी जाना जाता है. लोग इस त्यौहार को अपने घरो में दीपक जलाकर करते है. इस दिन बच्चे पटाखे/ फुलझड़ियों इत्यादि फोड़ते है. दिवाली के दिनों के आस पास कई अन्य त्यौहार जैसे की धनतेरस, भैया दूज इत्यादि भी मनाया जाता है.

Also Read: 

दिवाली के दिन प्रातः काल से ही घरो को सजाने सवारने का काम शुरु हो जाता है. दिवाली पर्व की शुरुआत कब से हुई इसके बारे में कई सारी प्रचलित कथाये है इसमे सबसे प्रचलित तथा मानने योग्य कथा यह है की दिवाली वाले दिन भगवन श्री राम लंका नरेश रावण का वध करके अवध नगरी अयोध्या वापस आ गए थे अपने पिता दसरथ द्वारा दिए गए 14 वर्ष का वनवास पूरा करने के उपरांत.

जब भगवान श्री राम वापस अयोध्या आये तो लोगो ने उनके स्वागत के लिए घर और बाहर दीपक जलाये थे. दीपक जलाने का रिवाज़ तभी से चला आ रहा है. इस दिन लोग लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करते है ताकि उनके घरों में सुख, समृधि एवं वैभव आये. दीपावली के त्यौहार के बहोत से गुड़ो के साथ ही साथ कुछ दुर्गुण भी है जैसे की दिवाली एक खर्चीला त्यौहार है. समाज के कुछ लोग इस त्यौहार को पैसे न होने के कारण कर्ज लेकर मानते है. नए कपडे पहेंते है और मिठाई खाते है.

इस Diwali essay in Hindi का प्रयोग आप Essay on Diwali in Hindi for class 6/ class 4/ class 3 के लिए कर सकते है.

यूँ तोह दिवाली पर्व से जुडी कई सारी आम धारणाये है पर इससे जुड़े कुछ अंधविश्वास भी है जैसे की कुछ लोगो का मानना है की इस दिन जुआ खेलने से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती है और वर्ष भर धन आता है. कुछ लोग जुआ खेलते-खेलते अपना सर्वस्वा केवल एक रात में ही गवा देते है.

 Diwali Essay in Hindi 250 Words

भारतवर्ष अनेक त्योहारों का देश है तथा दिवाली उन त्योहारों में से हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है. दिवाली दीपों का त्यौहार है इस दिन लोग अपने घरो में दीपक एवं मोमबत्ती जलाते है. यह पर्व कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अमावश्या को भारतवर्ष में पूरे धूम धाम से मनाया जाता है.

दीपावली मानाने के पीछे एक बहोत ही प्रचलित कथा है लोग कहते है की इस दिन भगवन श्री राम अपने भ्राता लक्ष्मण एवं अपनी पत्नी सीता के साथ  14 वर्षो का वनवास काट कर अयोध्या नगरी वापस लौटे थे. इसी ख़ुशी में नगर के लोगो ने अपने अपने घरो में दीप जलाकर खुशियाँ मनाई थी. इसी ख़ुशी में आज भी लोग अपने-अपने घरो में दीप जलाकर खुशियाँ मानते है. यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत के तौर पर भी देखा जाता है.

इस त्यौहार से पूर्व सभी लोग अपने घरो, व्यावसायिक प्रथिस्थानो एवं दुकानों में सफाई एवं पुताई का काम करते है. इस दिन लोग अपने इस्ठ्मित्रों एवं व्यावहारिक लोगों को सुभकामनाएँ एवं उपहार इत्यादि जैसे की मिठाई, फल भिजवाते है. व्यापारी बंधुओं के लिए इस त्यौहार का एक विशेष महत्व है वे इस दिन लक्ष्मी पूजन करते है नयी मदों का प्रारंभ करते है तथा उसके निरंतर विकास के लिए उसकी भी पूजा करते है.

नोट: – तो यहाँ पर प्रस्तुत किआ गया Diwali Essay in Hindi को पढ़ कर आप लाभ उठा सकते है. आप इसका प्रयोग Essay on Diwali in Hindi for class 6/ class4/ class 3 के लिए भी कर सकते है जिसे 250 words, 400 words और 600 words में लिखा जा सकता है.

Related Posts

Leave a Comment