Brussel Sprouts का मतलब हिन्दी में उदाहरण सहित – Brussel Sprouts in Hindi with examples

Brussel Sprouts के हिन्दी अर्थ है बंदगोभी, दोस्तों खाना खाने के साथ जब तक सब्जी न हो तब तक खाने मे कोई आनंद नही आता। सब्जीयां खाने से हमे कई लाभ भी होते है। सब्जी खाने के कई गुण है जिसमे शरीर को स्वस्थ्य बनाना एवं शरीर मे उर्जा पैदा करना इत्यादि। कहते है हरी व ताजी सब्जीया खाना शरीर के लिए लाभदायक होता है। कई जगहों पर बंदगोभी को पत्ता गोभी भी कहते है। अगर आप भी बंदगोभी के बारे मे जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढे़ ताकि आप भी इसके बारे मे समझ सके। 

Brussel Sprouts क्या है ? ( What is Brussel Sprouts ) 

बंदगोभी यानी पत्ता गोभी एक प्रकार की सब्जी होती है जिससे आप अंजान तो नही होंगे नही। बंदगोभी का वैज्ञानिक नाम ब्रेसिका ओलेरेसिया (Brassica Oleracea)  है, इसका कलर हल्का हरा व पृथ्वी के आकार के समान गोल होता है। बंदगोभी दिखने मे जितनी ही खूबसूरत होती है खाने मे उतनी ही स्वादिष्ट भी होती है बंदगोभी।

Brussel Sprouts कि पहचान कैसे करे ( How to identify Brussel Sprouts )

बंदगोभी की पहचान करना काफी आसान है। पत्तागोभी को कलर हल्का हरा होता है वही इसका आकार पृथ्वी के समान गोल होता है। पत्तागोभा एक पत्तेदार फूल समान अपना आकार बनाती है। पत्तागोभी की पैदावार फुल के समान होती है। पत्तागोभी को सलाद के साथ कच्छा खाने से भी स्वास्थ्य काफी अच्छा रहता है। 

रंग हल्का हरा 
आकार पृथ्वी के समान गोल
साईज क्रिकेट के आकार की कम से कम
खेती गर्मीयो में

Also Read:

बंदगोभी सेहत के लिए कितनी अच्छी ? ( How Brussel Sprouts is good for health ) 

आप इस बात को शायद ही जानते होंगे की बंदगोभी सेहत के लिए काफी अच्छी है। पत्तागोभी मे कई तरह के पोषक तत्व होते है जिसमे Antioxident ओर एंटीइनफ्लेमेंटरी शामिल है। किसी जानवर के काटने से भी हल्का गांव होता है तो उसके लिए बंदगोभी काफी फ़ायदेमंद होती है। 

Brussel Sprouts के फायदे ( Benefits of Brussel Sprouts ) 

जैसा की आप पहले से ही जानते है की पत्तागोभी एक ऐसी सब्जी है जिससे हजारों फायदे है। अगर आप भी इन फायदो के बारे मे विस्तार से जानना चाहते है तो यहां पर बंदगोभी के फायदो को समझ सकते है। 

  • पाचन व कब्ज की बिमारी मे मददगार – दोस्तों आपके देखा कई जगहों पर देखा होगा की पाचन व कब्ज की बिमारी के इलाज के लिए लोग अस्पतालों मे कितना चक्कर लगाते है फिर भी उनको कही इस बिमारी से मदद मिलती है वो भी पूरी नही। क्या आप जानते है कि पत्तागोभी मात्र खाने से ही आप पाचन व कब्ज की बिमारी से मुक्ति पा सकते है। एक रिपोर्ट के अनुसार अगर देखा जाये तो लाल पत्तागोभी में एंथोसायनिन पोलीफोनोल होता है जो पाचन की क्रिया को सरल बनाने मे मदद करता है। इसके अलावा पत्तागोभी मे फाईबर से भरपूर होती है जो की आपको मदद करती है कब्ज से मुक्त करने मे। 
  • केंसर से मुक्ति – कई बार यह भी देखा गया है कि लोग कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी के लिए देश – विदेश मे इलाज करवाने के लिए जाते है। क्या आप इस बात से वाक़िफ़ है की बंदगोभी कैंसर के लिए भी फ़ायदेमंद रहती है। एक मेडिकल रिसर्च की माने तो बंदगोभी मे बै्रसिनिन होता है जो की मदद करता है कैंसर के खिलाफ लडने मे। शरीर मे बनने वाली कैंसर की टयूमर को खत्म करने के लिए गोभी मे पाये जाने वाली बै्रसिनिन तत्व काफी मददगार होते है। आपको इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी से लडने के लिए डाक्टर की सलाह जरूर है, इसके लिए केवल बंदगोभी पर निर्भर नही रहे।
  • आँखो की रोशनी के लिए – आपको यह जानकारी काफी अजीब जरूर लगेगा पर आपको यह बता दे की गोभी खाना आँखो के लिए काफी फ़ायदेमंद हो सकता है। एक मेडिकल रिसर्च की माने तो गोभी मे ल्यटिन ओर जेक्सैथीन जैसे तत्व होते है जो आंखो की रोशनी के लिए फ़ायदेमंद होते है। एक रिसर्च मे यह भी बताया गया है की यह दोनो तत्व आँखो की रोशनी को तेज बनाने मे काफी मददगार साबित हो सकता है। 
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने मे फ़ायदेमंद – कोरोना काल मे आपने देखा होगा की वही इंसान कोरोना से बचा हुआ जिसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक है। आपको शायद ही इस बात पता होगी की बंदगोभी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने मे काफी सहायक होती है। पत्तागोभी मे विटामिन – सी काफी अधिक मात्रा मे होता है जो मददगार होता है प्रतिरोधक क्षमता बढाने में। Brussel Sprouts को इम्यूनिटी बूस्टर की लिस्ट मे भी रखा जाता है। 
  • वजन कम करने के लिए – अगर आप शरीर के बजन बढने की समस्या से परेशान है तो आपको बता दे की बंदगोभी शरीर मे वजन कम करने के लिए भी काफी कारगर होती है। बंदगोभी मे फाईबर भरपूर होता है जो आपको मदद है। पत्तागोभी मे फाईबर होता है जिससे हमारा पेट हमारा भरा – भरा होता है जिस वजह से हम कुछ नही ओर हमारा वजन कम होने के चांस बढ़ जाते है। 
  • अल्सर से राहत – अक्सर लोगो को पेट मे अल्सर की समस्या से जुझता देखा जा सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार गोभी के पत्तों का ज्यूस पीने से पेट मे अल्सर की समस्या से छूटकारा मिल सकता है। गोभी के पत्तों के ज्यूस मे एंटीपेटिक्स होते है जो की इस रोग से मुक्ति दिलाने मे मदद करते है। 
  • दर्द से राहत – पत्तागोभी का एक फायदा ओर भी है जो की शरीर मे कई रोगो की वजह से होने वाले रोगो से दर्द से छुटकारा दिलाता है। एक रिसर्च की माने तो गोभी के पत्तों मे होने वाले स्तनपान कराने वाली मांओ के बेस्ट मे होने वाले दर्द को भी गोभी की मदद से कम किया जा सकता है।
  • गोभी के पत्तों की सिकाई करने से स्तनपान के दर्द से मुक्ति मिल सकती है। वही अगर विशेषज्ञों की माने तो घूटनो के दर्द से भी बंदगोभी  की मदद से छुटकारा मिल सकता है। 
  • ह्रदय रोगो से मुक्ति – वैसे तो ह्रदय संबंधित रोगो का इलाज कई प्रकार के किया जा सकता है परन्तु आपको इस बात का भी ध्यान रखना आवश्यक है की गोभी से भी ह्रदय संबंधित रोगो को इलाज किया जा सकता है। ह्रदय संबंधित रोगो के लिए से मुक्ति देने के लिए गोभी मे पाये जाने वाले एंथोसाईनिन पाॅलीफनोल काफी फ़ायदेमंद होते है।

बंदगोभी मे पाये जाने वाले पोष्टिक तत्व  ( Cabbage Nutrition in Brussel Sprouts )

वैसे तो पत्ता गोभी स्वास्थ्य के लिए काफी फ़ायदेमंद होती है पर क्या आपको पता है की पत्तागोभी मे कौन – कौन तत्व पाये जाते है।  

पोषक तत्व  मूल्य प्रति 100g 
पानी 92. 18 g
ऊर्जा 25 kcal
प्रोटीन 1.28 g
टोटल लिपिड (फैट) 0.1 g
कार्बोहाइड्रेट 5.8 g
फाइबर 2.5 g
शुगर 3.2 g
कैल्शियम, Ca 40 mg
आयरन, Fe 0.47 mg
मैग्नीशियम, Mg 12 mg
फास्फोरस, P 26 mg
पोटैशियम, K 170 mg
सोडियम, Na 18 mg
जिंक, Zn 0.18 mg
कॉपर, Cu 0.019 mg
मैंगनीज, Mn 0.16 mg
सेलेनियम, Se 0.3 µg
विटामिन-सी 36.6 mg
थायमिन 0. 061 mg
राइबोफ्लेविन 0.04 mg
नियासिन 0. 234 mg
विटामिन-बी6 0.124 mg
फोलेट 43 µg
कोलिन 10.7 mg
विटामिन-ए, RAE 5 µg
विटामिन-ई 0.15 mg
विटामिन-के 76 µg
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड 0.034 g
फैटी एसिड्स, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड 0.017 g
फैटी एसिड्स, टोटल पोलीअनसैचुरेटेड 0.017 g

पत्ता गोभी का उपयोग  ( Uses of Brussel Sprouts ) 

बंदगोभी का उपयोग वैसे तो कई जगह होता है। कुछ खास बाते जो बंदगोभी के उपयोग के बारे मे पता होनी चाहिए।

  • सब्जी के रूप मे – पत्ता गोभी का सबसे ज्यादा उपयोग सब्जी बनाने मे काम मे आता है। पत्ता गोभी की आप अच्छी सब्जी बना कर खा सकते है। 
  • सूप – बंद गोभी का सूप बनाकर भी पी सकते है जो स्वास्थ्य के लिए काफी फ़ायदेमंद होता है। 
  • नूडल बनाने मे – अगर आप फास्ट फूड खाने के शौकीन है तो आपको इस बात का तो पता होगी की पत्ता गोभी का उपयोग नूडल व मैकरोनी बनाने के लिए भी उपयोग मे लिया जाता है। 
  • बेहतर स्वास्थ्य के लिए – गोभी के अन्य और भी फायदे है जिसमे आप पत्तागोभी का सूप बनाकर भी पी सकते है जिससे आपके स्वास्थ्य को काफी फायदा होता है। 
  • सलाद के रूप मे – दोस्तों अगर आप खाने मे साथ सलाद बनाकर खाने के शौकीन भी है तो आपको यह बता दे की आप बंदगोभी का सलाद बनाकर भी खा सकते है। 
  • पराठे बनाये – गोभी से अपने अपने मनपसंद के पराठै भी बना सकते है।

बंदगोभी का चयन कैसे करे ( How to find good quality brussel sprouts ) 

जब भी आप कभी बाजार जाये तो आपको यह पता होना चाहिए की आप एक अच्छी बंदगोभी किस प्रकार से खरीदे। बंदगोभी की कुछ विशेषताएँ है जिसके बारे मे आपको पता होना चाहिए की कौनसी पत्ता गोभी खरीदनी चाहिए।

  • बंदगोभी का रंग – बंदगोभी को खरीदने से पहले आपको यह पता होना चाहिए की बंदगोभी का प्राकृतिक रंग लाल या हल्का हरा होता है तो जब भी आप गोभी खरीदे तो इन दोनो रंगों मे से एक ही खरीदे। जहा तक हो गोभी हरी रंग की ही हो क्योंकि हरे रंग की गोभी ताजी होती है। 
  • ताजा गोभी का चयन करे – जब भी गोभी का चयन करे तो आप गोभी छिलके को उखाड कर चैक करे की कही गोभी सूखी हूई तो नही या काा या भूरे रंग को तो नही। बंदगोभी खरीदते वक्त इस बात का ख्याल जरूर रखे। 
  • कीडे चैक करे – गोभी को खरीदते वक्त इस बात का भी ध्यान रखे की गोभी मे कही कीडे तो नही ले है। इस बात का भी ध्यान रखे की गोभी मुरझाई हुई तो नही अगर ऐसा हो तो उस गोभी ना ही खरीदे तो बेहतर रहता है। 

बंदगोभी को सूरक्षित कैसे रखे ( How to keep Brussel Sprouts safe ) 

बंदगोभी को सुरक्षित रखने का तरीका भी आपको पता होना चाहिए। गोभी को सुरक्षित ओर सही ढ़ग से रखने के लिए आप इसे फ्रिज मे रख सकते है या फिर गीले कपड़े से ढक कर भी रख सकते है जिससे बंदगोभी मुरझाती नही ओर खराब भी नही होती। बंदगोभी ( Brussel Sprouts ) अगर 2 दिन से पूरानी हो तो उसका उपयोग ना ही करे तो अच्छा रहता है क्योंकि इसके खराब होने के सांच ज्यादा बढ जाते है। 

Also Read:

निष्कर्ष

Brussel Sprouts को हिन्दी भाषा मे बंदगोभी कहा जाता है ओर कुछ जगहों पर इसे पत्ता गोभी कहते है। बंदगोभी के कई सारे फायदे है जिसमे स्वास्थ्य से संबंधित फायदे काफी महत्पूर्ण है। पत्ता गोभी के पत्तो का ज्यूस बना कर पीने से शरीर मे घूटनो से सम्बंधित दर्द से राहत मिलती है वही ह्रदय से सम्बंधित रोग भी पत्ता गोभी के सेवन से दूर हो जाते है। हमारे इस लेख मे Brussel Sproits in hindi के बारे मे बताया गया है। उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा। 

FAQ

प्रश्न 1 – बंदगोभी ( Brussel Sprouts )  क्या है ? ( What is Brussel Sprouts ) 

उत्तर – बंदगोभी यानी पत्ता गोभी एक प्रकार की सब्जी होती है जिससे आप अंजान तो नही होंगे नही। बंदगोभी का वैज्ञानिक नाम ब्रेसिका ओलेरेसिया (Brassica Oleracea)  है। 

प्रश्न 2 – बंदगोभी की पहचान कैसे करे ?

उत्तर  – पत्तागोभी को कलर हल्का हरा होता है वही इसका आकार पृथ्वी के समान गोल होता है। पत्तागोभा एक पत्तेदार फूल समान अपना आकार बनाती है। 

प्रश्न 3 – Brussel Sprouts  का हिन्दी नाम क्या है?

उत्तर –Brussel Sprouts  का हिन्दी नाम बंदगोभी होता है ओर इसे पत्ता गोभी भी कहा जाता है। बंदगोभी का वैज्ञानिक नाम ब्रेसिका ओलेरेसिया (Brassica Oleracea)  है।

प्रश्न 4 – Brussel Sprouts  के क्या – क्या फायदे है ?

उत्तर – बंदगोभी या पत्तागोभी हमारे लिए कई तरिको से फ़ायदेमंद है। बंदगोभी स्वास्थ्य ओर शरीर से जुडी कुछ बिमारियों जैसे ह्रदय रोग, आँख से संबंधित रोग, पेट से संबंधित रोग इत्यादि के लिए फ़ायदेमंद होती है। गोभी का ज्यूस बना कर पीने से शरीर मे दर्द या घूटनो के दर्द से राहत मिलती है। 

प्रश्न 5 – बंदगोभी का उपयोग कहा होता है ?

उत्तर – बंदगोभी या पत्ता गोभी का उपयोग कई तरीकों मे होता है पत्ता गोभी की सब्जी बना सकते है तो पत्ता गोभी के पत्तो का ज्यूस बना कर पीने से शरीर मे कई रोग दूर होते है। पत्ता गोभी स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होने के साथ ही इससे फास्ट फुड जैसे नूडल भी बना सकते है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here